Breaking News

बिहार: मुजफ्फरपुर में आरजेडी के दो नेताओं को गोली मारी, दोनों की हालत नाजुक

नई दिल्ली। बिहार का मुजफ्फरपुर से दिल दहलाने वाली खबर सामने आई है। यहां गुरुवार रात को राष्‍ट्रीय जनता दल (आरजेडी) दो स्‍थानीय नेताओं पर अज्ञात बदमाशों ने ताबड़तोड़ गोलीबारी कर दी। जिससे दोनों नेता गंभीर रूप से घायल हो गए। घटना की सूचना तभी पुलिस कंट्रोल रूम को दी गई। घटनास्थल पर पहुंची पुलिस ने दोनों घायलों को नजदीकी बैरिया स्थित मां जानकी अस्पताल हॉस्पिटल में भर्ती कराया, जहां उनकी हालत नाजुक बनी हुई है। घटना रात 11 बजे सेरना गांव के पास की बताई जा रही है।

तीन तलाक के बिल पर भाजपा का समर्थन नहीं करेगी JDU, कांग्रेस करेगी पुरजोर विरोध

 

आंधी से तापमान में आई गिरावट के बाद, गुरुवार को फिर तपेगी दिल्ली

बदमाशों के खिलाफ मामला दर्ज

पुलिस जानकारी के अनुसार देर रात कांटी थाना क्षेत्र गोलियों तड़तड़ाहट से उस समय थर्रा उठा। जो आरजेडी के दो नेताओं सुरेंद्र यादव और उमाशंकर प्रसाद पर बदमाशों ने गोली चला दी। आरजेडी के जिला महासचिव सुरेंद्र यादव को दो गालियां लगी, जबकि राजद के प्रखंड उपाध्यक्ष उमा शंकर प्रसाद को 4 गोलियां लगी हैंं। घटना की सूचना लगते ही पूरे इलाके में हड़कंप मच गया। पुलिस ने अज्ञात बदमाशों के खिलाफ मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।

'वायु' चक्रवात: अशांत समुद्र में हलचल, 20 फीट ऊंची उठ रहीं लहरें, देखें वीडियो

 

RJD

दिल्ली: DMRC ने भेजा मेट्रो में महिलाओं के मुफ्त सफर का प्रस्ताव, सरकार से मांगा 8 माह का समय

रैक पॉइंट पर वर्चस्व की लड़ाई

जानकारी के अनुसार उमाशंकर के पुत्र अजीत कांटी रैक पॉइंट ठेकेदारी से जुड़े हैं। यही वजह है कि पुलिस इस मामले को रैक पॉइंट पर वर्चस्व की लड़ाई से भी जोड़कर देख रही है। पुलिस की मानें तो हमला हत्या की नीयत से किए जाने की आशंका है। घटना की सूचना मिलते ही हॉस्पिटल में राजद नेताओं का तांता लग गया। घटना के समय दाेनाें नेता बलहा शेरुकाही में एक शादी समाराेह से लौट रहे थे। बाइक से लौट रहे दोनों नेताओं का रास्ते में बदमाशों ने पीछा किया।

मोंटी चड्ढा IGI एयरपोर्ट से गिरफ्तार, फ्लैट बायर्स से 100 करोड़ के फ्रॉड का आरोप

 

RJD

गुजरात तट को छू कर निकलेगा ‘वायु’ चक्रवात, सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाए गए 2 लाख लोग

मुजफ्फरपुर के रेफर

बदमाशों को देख रहे सुरेंद्र राय ने बदमाशों को देखते ही बाइक की स्पीड बढ़ा दी। तभी बदमाशों ने पीछे से गोलियां चलानी शुरू कर दी। जिससे पीछे बैठे उमाशंकर काे चार गाेलियां लग गई। जबकि सुरेंद्र यादव काे दाे गाेली लगी।चौंकाने वाली बात यह है कि गोली लगने के बाद भी सुरेंद्र बाइक चलाते रहे और करीब आधा किमी दूर खुद ही कांटी पीएचसी पहुंच गए। डॉक्टरों ने दोनों की हालत नाजुक देखते हुए प्रारंभिक इलाज के बाद उनको मुजफ्फरपुर के रेफर कर दिया। वहीं, उमाशंकर यादव के पुत्र अजीत ने जानकारी देते हुए बताया कि यह हमला लूटपाट के इरादे से नहीं हुआ है। उन्होंने कहा कि उनकी कुछ लोगों से दुश्मनी है।



from Patrika : India's Leading Hindi News Portal http://bit.ly/2WIZuNg

No comments